प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना | Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘आत्मनिर्भर भारत’ पैकेज के तहत 10 सितंबर 2020 को प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना (Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana – PMMSY) की शुरुआत की थी। इस योजना का मकसद मतस्य (मछली) पालन को बढ़ावा देना है। यह योजना देश में मतस्य उद्योग को बढ़वा देगी। इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों व पशुपालकों के लिए ई-गोपाला ऐप भी लांच किया था।

इस लेख में आगे हम Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana के मुख्य तथ्य, उद्देश्य, लक्ष्य, लाभ, पात्रता तथा इस योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया के बारे में जानेंगे।

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना के मुख्य तथ्य

  • प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना (PMMSY) की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 सितंबर 2020 को डिजिटल माध्यम से किया था।
  • यह योजना आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत अगले पांच वर्षों तक (2020-25) पूरे देश में कार्यान्वित किया जाएगा।
  • इस योजना पर अगले पांच वर्षों में लगभग 20,050 हजार करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।
  • यह योजना मतस्य पालन को बढ़ावा देने के लिए लाई गई है।

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana के उद्देश्य, लक्ष्य व लाभ

  • प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना का सबसे बड़ा उदेश्य 2025 तक मत्स्य उत्पादन दुगना करके 70 लाख टन तक करना है।
  • यह योजना मतस्य उत्पादन से जुड़े मछुआरों, किसानों व मछली पालकों की आय दुगुनी करने में मदद करेगी।
  • इस योजना का लक्ष्य अगले पाँच वर्षों में मत्स्य क्षेत्र में प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से 55 लाख रोजगार पैदा करना है।
  • यह योजना मछली पालन से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर को बेहतर करने में मदद करेगी।
  • इस योजना का उद्देश्य मछलियों के गुणवत्तापूर्ण नस्लों को विकसित करना है, जिससे इससे जुड़े लोगों की आय में वृद्धि होगी।
  • यह योजना किसानों को आत्मनिर्भर बनाने में मदद करेगी।
  • यह योजना मत्स्य उद्योग से जुड़ी बर्बादी को कम करेगा।
  • इस योजना के तहत मछुआरों को समुद्री तूफान, चक्रवात, बाढ़ आदि से हुए नुकसान की भरपाई की जाएगी।
  • इस योजना में किसानों को मछली पालन के लिए केसीसी (किसान क्रेडिट कार्ड) के माध्यम से 4% ब्याज दर पर 3 लाख रुपये तक का लोन आसानी से मिल पाएगा।
  • यह देश की जीडीपी को सुधारने में मदद करेगा।
  • इस योजना के लिए सामान्य वर्ग के आवेदकों को 40% सब्सिडी जबकि अनुसूचित जाति के आवेदक को 60% सब्सिडी दी जाएगी।

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana के लिए अभी ऑनलाइन आवेदन की शुरुआत नहीं की गई है। वर्तमान में विभिन्न राज्य सरकारों द्वारा इसके लिए ऑफलाइन तरीके से आवेदन लिए जा रहे हैं। इसके लिए समय-समय पर राज्य सरकार की आधिकारिक सूचना देखते रहें। इसके अलावा आप इस योजना का लाभ लेने के लिए राज्य के मतस्य/कृषि विभाग से संपर्क कर सकते हैं। इस योजना से जुड़ी विशेष जानकारी के लिए मतस्यपालन विभाग,भारत सरकार की आधिकारिक वेबसाइट http://dof.gov.in पर विजिट करें।

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana FAQ :

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना क्या है?

PMMSY भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक ऐसी योजना है, जिसके तहत मत्स्य पालन को बढ़वा दिया जाएगा। यह योजना का उद्देश्य मतस्य का उत्पादन दुगुना करना है।

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana की घोषणा कब की गई थी?

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना की घोषणा 15 मई 2020 को की गई थी तथा इसकी शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 10 सितंबर 2020 को डिजिटल तरीके से किया गया था।

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना का बजट क्या है?

15 मई 2020 को आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत इस योजना के लिए लगभग 20 हजार करोड़ रुपए के बजट की घोषणा की गई है। यह पैसे अगले पाँच वर्षों में (2020 से 2025 तक) इस योजना के कार्यान्वयन के लिए खर्च किए जाएंगे।

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana के लिए कौन-कौन से लोग पात्र हैं?

PMMSY के लिए मछुआरे व मछली पालन से जुड़े किसान या मछलीपालक पात्र हैं।

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना के क्या लाभ हैं?

यह योजना मत्स्य पालक व मछुआरों की आय को दुगना करेगा। इस अलावा इस योजना के माध्यम से अगले पाँच वर्षों में 55 लाख नए रोजगार पैदा करने के लक्ष्य रखे गए हैं।

Leave a Comment