Pradhan Mantri Solar Pump Yojana | Solar Pump Yojana

केंद्र सरकार ने डीजल/बिजली से चलने वाले पंपों की जगह सौर ऊर्जा से चलने वाले सोलर पंपों को बढ़ावा देने के लिए Pradhan Mantri Solar Pump Yojana की शुरुआत की है। भारत सरकार के नवीन व नवीकरणीय उर्जा मंत्रालय द्वारा चलाए जाने वाले इस योजना को ‘कुसुम योजना’ के नाम से भी जाना जाता है। इस योजना के तहत किसानों को सोलर पंप लगवाने के लिए सब्सिडी दी जाती है।

इस लेख में आगे हम Pradhan Mantri Solar Pump Yojana क्या है? योजना की विशेषताएं व लाभ क्या-क्या हैं? इस योजना का उद्देश्य क्या है? इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्रता क्या है? तथा प्रधानमंत्री सोलर पंप योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया क्या है? इन सबके बारे में विस्तार से जानेंगे।

Pradhan Mantri Solar Pump Yojana

प्रधानमंत्री सोलर पंप योजना की शुरुआत नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय, भारत सरकार के द्वारा की गई है। इसे Kusum Yojana के नाम से भी जाना जाता है। Pradhan Mantri Solar Pump Yojana के माध्यम से खेतों की सिचाई के लिए बिजली/डीजल पंपों की जगह सोलर पंप का इस्तेमाल करने के लिए बढ़ावा दिया जा रहा है। इस योजना के तहत सोलर पंप लगवाने के लिए किसानों को कुल कीमत का मात्र 10% भुगतान करना होगा। शेष 90% में से 60% राशि सरकार सब्सिडी के तौर पर देगी तथा 30% राशि बैंक किसानों को लोन देगी। नए वित्त वर्ष में सरकार ने देश के 20 लाख किसानों को इस योजना का लाभ देने का लक्ष्य रखा है।

प्रधानमंत्री सोलर पंप योजना के उद्देश्य क्या हैं?

इस योजना का उद्देश्य किसानों को कम खर्चे पर सिंचाई की सुविधा उपलब्ध कराना तथा डीजल,कच्चे तेल व बिजली की खपत को घटाना है। डीजल पंप के इस्तेमाल से अत्यधिक मात्रा में जहरीले धुंए व गैस निकलते हैं जबकि सोलर पंप के इस्तेमाल से पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है। यह योजना किसानों की आय बढ़ाने में भी मदद करेगी।

Pradhan Mantri Solar Pump Yojana के लाभ व इसकी मुख्य विशेषताएँ

  • इस योजना के माध्यम से सिंचाई के लिए सोलर पंप को बढ़ावा मिलेगा।
  • योजना के द्वारा सरकार सोलर पंप लगावाने पर किसानों को 60% सब्सिडी तथा 30% लोन देगी।
  • इस योजना से सिंचाई के लिए होने वाली डीजल और बिजली की खपत कम की जा सकेगी।
  • सोलर पंप, डीजल पंप की तुलना में बहुत ही कम मात्रा में प्रदुषण करेगा। अतः यह पर्यावरण की दृष्टि से भी अनुकूल है।
  • इस योजना के तहत वर्ष 2021 तक देश में तीन करोड़ सिचाईं पंपों को बिजली या डीजल की जगह सौर ऊर्जा से चलाने की व्यवस्था की जाएगी।
  • योजना से खेतों की सिंचाई में होने वाले खर्चे भी कम हो जाएंगे।
  • इस योजना के माध्यम से किसान सोलर पैनल से उत्पन्न होने वाले अतिरिक्त उर्जा को सरकार या गैर-सरकारी संस्थानों को बेचकर अतिरिक्त कमाई कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री सोलर पंप योजना का लाभ उठाने के लिए पात्रता व जरूरी दस्तावेज

  • आवेदक किसान भारत का नागरिक हो
  • उसके पास खेती की अपनी जमीन हो
  • सिचांई का स्थायी स्रोत हो
  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • बैंक खाता
  • खेत का दस्तावेज(खतौनी आदि)
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

Solar Pump Yojana के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

प्रधानमंत्री सोलर पंप योजना का लाभ लेने के लिए आप अपने किसान मित्र या प्रखंड कृषि अधिकारी से संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप चाहें तो नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट https://mnre.gov.in पर जाकर इस योजना से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी, पात्रता, लाभ आदि जान सकते हैं। वर्तमान में इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन की सुविधा नहीं दी गई है। कुसुम योजना से संबंधित बहुत सारी फेक वेबसाइट भी आ चुकी हैं, इसलिए किसी भी फेक बेवसाइट पर अपनी महत्वपूर्ण जानकरियाँ व पैसे देने से बचें। सही व सटीक जानकारी के लिए केवल सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर भी भरोसा करें।

Leave a Comment